1 अक्टूबर से बचत खाते में सिर्फ इतनी ही रकम रखी जा सकेगी यहां चेक करें कि आप खाते में कितना पैसा रख सकते हैं

कई बैंक खाते का बैलेंस न्यूनतम सीमा से कम होने पर कुछ जुर्माना वसूलते हैं।अगस्त महीने में वित्त राज्य मंत्री डॉ. भागवत कराड ने लोकसभा में एक लिखित जवाब में कहा था कि सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और 5 प्रमुख निजी क्षेत्र के बैंकों ने न्यूनतम बैलेंस न रखने पर जुर्माना लगाकर पिछले 5 वर्षों में लगभग 21 हजार करोड़ रुपये कमाए हैं।

1 अक्टूबर से बचत खाते में सिर्फ इतनी ही रकम रखी जा सकेगी


यहां चेक करें कि आप खाते में कितना पैसा रख सकते हैं

अलग-अलग बैंकों के लिए यह शुल्क 400 रुपये से 500 रुपये के बीच है। लेकिन क्या आपने कभी सोचा है कि अगर ऐसे खातों से सारा पैसा निकाल लिया जाए और बैंक जुर्माना लगा दे तो आपका बैलेंस नेगेटिव हो जाएगा। तो क्या किसी के खाते का शेष ऋणात्मक हो सकता है? आइये इसके बारे में जानें।